सिर दर्द के घरेलू उपाय | sir dard ke ghareloo upaay

बाजार में कई तरह की दवाइयां मौजूद हैं जो सिर दर्द में राहत के लिए ली जाती हैं लेकिन हर बार दवाई लेना भी सही नहीं है. पर आप चाहें तो ऐसे कई घरेलू उपाय हैं जिनसे आप अपना सिर दर्द चुटकी में दूर कर सकते हैं.अधिकांश मामलों में थकान और चिंता के कारण सिर दर्द होता है।सिर दर्द होने पर किसी काम में मन नहीं लगता है और जिंदगी थम-सी जाती है।

सालों से लोग सिर दर्द में राहत के लिए एक्यूप्रेशर का प्रयोग करते आ रहे हैं. सिर दर्द होने की स्थिति में आप अपनी दोनों हथेलियों को सामने ले आइए. इसके बाद एक हाथ से दूसरे हाथ के अंगूठे और इंडेक्स फिंगर के बीच की जगह पर हल्के हाथ से मसाज कीजिए. ये प्रक्रिया दोनों हाथों में दो से चार मिनट तक दोहराइए. ऐसा करने से आपको सिर दर्द में आराम मिलेगा.

सबसे आसान है नींबू और गुनगुने पानी का उपयोग। कई बार पेट में गैस बढ़ने के कारण सिर दर्द होता है। ऐसे में एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलकर सेवन किया जाए तो तुरंत फायदा होता है। इसमें थोड़ा शहद मिलाया जा सकता है। इसका सेवन रोज सुबह खाली पेट किया जाए तो स्थायी फायदा होता है। पेट शांत रहेगा और सिर दर्द भी नहीं होगा।

यह सबसे सामान्य रूप से होने वाला सिरदर्द है। इस तरह के सिरदर्द में व्यक्ति अपने सिर के दोनों तरफ़ तेज़ दर्द महसूस करता है, जैसे कोई दोनों ओर से सिर में रबर बैंड से दबा रहा हो। ऐसे सिरदर्द की वजह से गर्दन व कंधे की मांसपेशियां काफ़ी कड़ी हो जाती हैं और सूजन महसूस होती है।तनाव संबंधी सिरदर्द ठंडी हवा के संपर्क में आने से भी हो सकता है। जब सर्दी आती है और ठंडी हवा चलती है या एयर-कंडीशन के संपर्क में आने से जब हवा आपके गर्दन और सिर पर लगती है, इस स्थिति में भी यह सिरदर्द हो सकता है। टेंशन से होने वाले सिरदर्द में फिज़ियोथेरेपी काफ़ी लाभदायक हो सकती है

इस तरह का सिरदर्द काफ़ी तीव्र और पीड़ादायक होता है। क्लस्टर सिरदर्द एक दिन में कई बार हो सकता है, लेकिन ज़्यादा देर के लिए नहीं होता है। कभी-कभी यह किसी एक वक़्त पर ही शुरू होता है, जैसे – अगर यह सुबह शुरू हुआ, तो कुछ वक़्त तक रोज़ सुबह ही होगा। यह दर्द सिर के किसी एक साइड और एक आख में हो सकता है, क्योंकि यह चेहरे के किसी नर्व पर भी प्रभाव डालता है।

चंदन का पेस्ट सिरदर्द का बहुत पुराना इलाज है। चंदन की लड़की को घिसकर पेस्ट बना लें और माथे पर लगाएं। तत्काल आराम मिलेगा। अदरक सर्दियों में कई बीमारियों का इलाज करता है और सिर दर्द भी इनमें शामिल है। अदरक का उपयोग दो तरह से किया जा सकता है। इसके सेवन करके और दूसरे पेस्ट बनाकर सिर पर लगाकर। इन्हीं दो तरीकों से पुदीने का उपयोग भी किया जाता है। पुदीने की पत्तियों को पीसकर उनका रस माथे पर लगाएं या पुदीने की चाय बनाकर पिएं। तुलसी सिरदर्द भगाने का पक्का इलाज है। तुलसी की कुछ पत्तियों को पानी में उबालें और छानकर पिएं। तुलसी को सामान्य तरीके से चबाने से भी सिरदर्द रफूचक्कर हो जाता है।

अगर आपको गर्मी के दिनों में सिरदर्द की परेशानी हो रही है, तो बर्फ के टुकड़ों को आइस बैग में भरकर अपने माथे, गर्दन और पीठ पर 10 से 15 मिनट के लिए रखें।अगर आपके पास आइस बैग नहीं है, तो बर्फ के टुकड़ों को किसी कपड़े में बांधकर, उसे दर्द वाली जगह पर थोड़ी-थोड़ी देर के लिए रखें।अगर आपको ठंड के दिनों में सिरदर्द हो रही है, तो आप पानी को गुनगुना करके हॉट वॉटर बैग में डालकर उससे सेंक लें।अगर हॉट वॉटर बैग नहीं है, तो तौलिये या फिर साफ़ कपड़े को गर्म पानी में भिगोकर उससे दर्द वाली जगह पर सेंक लें।सिरदर्द तब होता है जब आपके सिर की मांसपेशियां और रक्त वाहिकाएं संकुचित होने लगती हैं। ऐसे में सिकाई करने से मांसपेशियों और रक्त वाहिकाओं को आराम मिलने लगता है। इससे रक्त प्रवाह सामान्य होता है और सूजन कम होती है, जिससे दर्द कम होने लगता है। ठंडा सेंक माइग्रेन के सिरदर्द में ज़्यादा फायदेमंद साबित होता है।इसके अलावा कुछ सिरदर्द में गर्म सेंक की ज़रूरत होती है, जब गर्म सेंक लेते हैं, तो रक्त प्रवाह बढ़ जाता है और दर्द कम होने लगता है।

लौंग का तेल सिरदर्द में गुणकारी घरेलू उपाय है। इससे थोड़े देर के लिए ही सही, लेकिन सिरदर्द से राहत मिलती है। यह प्राकृतिक तौर से एंटी-इंफ्लेमेटरी व एंटीसेप्टिक तो है ही, साथ ही इसमें अन्य कई पोषक तत्व भी मौजूद हैं। यह न सिर्फ़ सिरदर्द का इलाज करता है, बल्कि तनाव की परेशानी को भी कम करता है।

ग्रीन-टी में सीमित मात्रा में मौजूद कैफीन मस्तिष्क में रक्त प्रवाह में सुधार करता है और इससे सिरदर्द में आराम मिलता है। इससे न सिर्फ सिरदर्द की परेशानी ठीक होती है, बल्कि वज़न भी संतुलित रहता है, लेकिन अत्याधिक कैफीन का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो सकता है, इसलिए इसका सीमित मात्रा में सेवन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *