शहद के खाने फायदे | Shahad ke khane Fayade

सदियों से शहद का इस्तेमाल एक महत्वपूर्ण औषधि के रूप में किया जाता है। जहां इसका सेवन सेहत की जुड़ी परेशानियों को दूर रखता है। वहीं, इसका इस्तेमाल सुदंरता बढ़ाने के लिए भी किया जा सकता है। इसके जीवाणुरोधी तत्व मानवीय शरीर को शुद्ध करने का काम करते हैं

शहद में फ्रूट ग्लूकोज, आयरन, कैल्शियम, फॉस्फेट, सोडियम, क्लोरीन, पोटेशियम और मैग्नीशियम जैसे गुण होते हैं, जो शरीर को बैक्टीरिया से बचाने में मदद करते हैं। साथ ही इसमें एंटीसेप्टिक, एंटीबायोटिक, विटामिन बी1 और बी6 भी भरपूर मात्रा में होते हैं, जो सेहत और खूबसूरती दोनों के लिए फायदेमंद है।सर्दी-जुकाम की आधुनिक दवाइयों से ज्यादा कारगर शहद होता है।

आयुर्वेद में शहद को हर्बल और अन्य उपायों के चिकित्सीय प्रशासन के लिए सबसे प्रभावी प्राकृतिक वितरण प्रणालियों में से एक माना जाता है. दुनिया भर में सभी चिकित्सा प्रणालियों के रूप में शहद का इस्तेमाल किया जाता है. ये निर्भर करता है की शहद का क्या स्रोत है. अपने विशिष्ट प्रकार और सिद्धता के कारण इसको विभिन्न चिकित्सा प्रणालियों से जोड़ा गया है.

शरीर का बढ़ता वजन एक गंभीर शारीरिक समस्या बनकर सामने आया है, जिसके के लिए लोग कुछ भी उपाय करने के लिए तैयार हो जाते हैं। बढ़ता वजन आपके शरीर को जल्दी थका देता है और शरीर की संरचना भी बिगाड़ देता है।अनियंत्रित खान-पान इसका सबसे बडा़ कारण हैं।यहां हम बता रहे हैं कि वजन घटाने के लिए हनी का इस्तेमाल किस प्रकार करें।

शहद का सेवन सबसे अच्छा तब होता है जब ये खाने की तुलना में गर्म चाय या दूध के साथ पिया जाता है, जब आप शहद खाते है तो ये कुछ समय के लिए मुंह में रखे और तुरंत इसे निगले नही, शहद की दैनिक खुराक एक व्यक्ति के लिए चिकित्सा के दौरान 100 ग्राम, दिन के दौरान 30-35 ग्राम और रात में 25-30 ग्राम होनी चाहिए,शहद में एंटी-एजिंग गुण होते हैं, जो स्किन में होने वाली झुर्रियों और रिकंल्स की समस्या को रोक देता है। इसके साथ ही शहद खाने या लगाने से मृत कोशिकाओं में जान आ जाती है।

कोलेस्ट्रॉल एक वसा जैसा पदार्थ है, जो शरीर की सभी कोशिकाओं में पाया जाता है।यह शरीर में हार्मोंस को विकसित करने और कोशिकाओं को स्वस्थ्य रखने में मदद करता है, लेकिन इसकी अधिक मात्रा शरीर के लिए घातक साबित हो सकती है। कोलेस्ट्रॉल के बढ़ जाने के कारण खून गाढ़ा हो जाता है और हार्ट अटैक व अन्य बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। यहां हम बता रहे हैं कि कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने के लिए किस प्रकार करें शहद का इस्तेमाल।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *