लहसुन के फायदे | lahasun ke phaayade

लहसुन अपनी तेज गंध और अद्भुत स्वाद के लिए जाना जाता है। भोजन का जायका बढ़ाने के अलावा, लहसुन अपने औषधीय गुणों के लिए भी लोकप्रिय है। इसे आसानी से स्टोर किया जा सकता है। दुकानों में जो सामान्य लहसुन पाया जाता है, वो सॉफ्टनेक लहसुन होता है। इसका स्वाद हल्का होता है। इसका इस्तेमाल आमतौर पर रसोई में रोजाना किया जाता है।

पुराने समय में आज की तरह जगह-जगह दवा की दुकानें नहीं होती थीं। उस समय लहसुन का इस्तेमाल आयुर्वेदिक उपचार में किया जाता था। लहसुन एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-फंगल और एंटी-वायरल गुणों से भरपूर होता है। इसमें एलीसीन और सल्फर यौगिक मौजूद होते हैं। साथ ही लहसुन में एजोइन और एलीन जैसे यौगिक भी मौजूद होते हैं, जो लहसुन को और ज्यादा असरदार औषधि बना देते हैं। इन तत्वों और यौगिकों की वजह से ही लहसुन का स्वाद कड़वा होता है, लेकिन यही घटक लहसुन को संक्रमण दूर करने की क्षमता भी देते हैं तथा उस समय लहसुन का औषधीयो के रूप में काम में लिया जाता था।

लहसुन बढ़ते वजन को रोकने में कुछ हद तक मददगार साबित हो सकता है। इसका एंटी-ओबेसिटी गुण डाइट के कारण मोटापे को कम करने में मदद कर सकता है,लहसुन के तेल में मौजूद एंटी-ओबेसिटी गुण हाई फैट डाइट के कारण बढ़ते वजन की समस्या पर भी प्रभावकारी हो सकता है।
लहसुन का सेवन हाई ब्लड प्रेशर में भी किया जा सकता है उसमे यह एक दवाई के रूप में काम करता है सल्फर की कमी से भी हाई ब्ल्ड प्रेशर की समस्या हो सकती है, इसलिए शरीर को ऑर्गनोसल्फर यौगिकों वाला पूरक आहार देने से ब्लड प्रेशर को स्थिर करने में मदद मिल सकती है। उसमे लहसुन का सेवन किया जा सकता है।

एक से दो हफ्ते के लिए लहसुन का सेवन टाइप डायबिटीज के मरीजों में शुगर को नियंत्रित करने में लाभकारी साबित हुआ है। इसके साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में भी फायदेमंद हो सकता है लहसुन के गुण कुछ हद तक लहसुन के लिए लाभकारी हो सकते हैं। मनुष्यों और जानवरों पर किए गए कुछ अध्ययनों के अनुसार लहसुन में कुछ खास तरह के कार्डियो प्रोटेक्टिव गुण मौजूद होते हैं। इसके साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल को कम कर हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है

पहले के बड़े बुजर्ग लोग कई बार लोगो सर्दी-जुकाम या बुखार से बचाव के लिए लहसुन खाने की राय देते हैं। पुराने लहसुन के अर्क की एक उच्च खुराक से रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार हो सकता है, जिससे सर्दी-जुकाम या बुखार का जोखिम कम हो सकता है । लहसुन सर्दी-जुकाम के जोखिम से बचाव कर सकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *