कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थों पर अपने आहार को आधार बनाएं | kaarbohaidret se bharapoor khaady padaarthon par apane aahaar ko aadhaar banaen

हमारे भोजन में लगभग आधा कैलोरी कार्बोहाइड्रेट, चावल, चॉकलेट दूध, सफेद बीन्स, सेब, केले, और रोटी जैसे कार्बोहाइड्रेट से भरपूर खाद्य पदार्थों से आना चाहिए। हर भोजन में इनमें से कम से कम एक को शामिल करना एक अच्छा विचार है। साबुत अनाज की रोटी, पास्ता और अनाज जैसे साबुत अनाज, हमारे फाइबर का सेवन बढ़ाएंगे।

(i) चावल

(ii) चॉकलेट दूध

(iii) केले

(iv) रोटी

चावल


सफेद चावल चावल का सबसे लोकप्रिय प्रकार है और इसका सबसे अधिक उपयोग किया जा सकता है। सफेद चावल का प्रसंस्करण इसके कुछ फाइबर, विटामिन और खनिजों को कम करता है। लेकिन कुछ प्रकार के सफेद चावल अतिरिक्त पोषक तत्वों से समृद्ध होते हैं। यह अभी भी बोर्ड में एक लोकप्रिय विकल्प है। प्रतिदिन के भोजन में शामिल चावल, शरीर में कॉम्प्लेक्स,  कार्बोहाइड्रेट और विटामिन- बी की आपूर्ति करता है।

चावल को मांड के साथ खाना ज्यादा फायदेमंद होता है । निश्चित तौर से चावल आसानी से पच जाता है, इसलिए डायरिया और अपच होने पर चावल का सेवन करने पेट को आराम मिलता है।आतिसार और पेचिश की समस्या होने पर चावल का प्रयोग गाय के दूध या दही के साथ किया जाता है।

चॉकलेट दूध

चॉकलेट मिल्‍क में कार्बोहाइड्रेट होता है जो कि स्‍वास्‍थ्‍य के लिये अच्‍छा होता है, खासतौर पर तब जब आप भारी वजन उठाते हैं। कार्बोहाइड्रेट्स की वजह से आप जिम में ज्‍यादा ताकत के साथ वर्कआउट कर सकते हैं। इमसें मौजूद शुगर एनर्जी को बूस्‍ट करती है।

एक्‍सपर्ट के मुताबिक आपको एक भारी वर्कआउट करने के बाद एक हेल्‍दी पेय जरुर पीना चाहिये। चॉकलेट मिल्‍क ना केवल स्‍वास्‍थ्‍य और पोषण से भरा हुआ होता है बल्‍कि इसमें बहुत कम कैलोरी होती है।

केले

केला मैग्नीशियम का अच्छा स्त्रोत है. यह आपके मूड को तो बेहतर बनाने के साथ ही अच्छी नींद के लिए फायदेमंद होता है.केले में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पाचन क्रिया को बेहतर बनाते हैं. अगर आप रोजाना केले का सेवन कर रहे हैं तो आपकी पाचन क्रिया अच्छी रहेगी.ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए भी केला खाना अच्छा माना जाता है. हाई बीपी के मरीजों के लिए केला खाना खासतौर पर फायदेमंद हो सकता है.

केले में आयरन की मात्रा भी अच्छी होती है. रोजाना एक केला खाने से एनीमिया का खतरा कम हो सकता है.केला में मैग्निशियम पाया जाता है, जिसकी वजह से केला जल्दी पच जाता है. केला उपापचय को दुरुस्त रखता है और कोलेस्ट्रोल कम करता है.


रोटी

डायबिटीज के रोगियों के लिए बासी रोटी खाना फायदेमंद हो सकता है। अगर आपको डायबिटीज है, तो सुबह के समय बासी रोटी को दूध के साथ खाना फायदेमंद हो सकता है। इससे आपके शरीर में शर्करा का स्तर संतुलित रहेगा।पेट की समस्याओं और एसिडिटी से राहत के लिए भी सुबह के वक्त दूध के साथ बासी रोटी खाना काफी लाभदायक होता है। 

ताजी रोटी की अपेक्षा बासी रोटी अधिक पौष्ट‍िक होती है, क्योंकि लंबे समय तक रखे रहने के कारण इसमें जो बैक्टीरिया होते हैं वे सेहत बनाने में लाभकारी होते हैं। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *