कान दर्द के घरेलू उपाय | kaan dard ke ghareloo upaay

कान हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है, कान में वैक्स जमा होना, सर्दी के कारण दर्द होना या फिर किसी प्रकार की एलर्जी हो जाना या इंफेक्शन होना आम समस्या है, जो कई लोगों के साथ होती है।लेकिन समय पर इलाज न होने पर यह समस्या बढ़ जाती है। इससे निपटने के लिए लहसुन एक बेहतरीन उपाय है।

जिसे नियमित अंतराल के दौरान साफ करना बहुत जरूरी हैं। दरअसल, कान के पास अलग से सुरक्षा परत नहीं होती जिससे धूल-मिट्टी के रूप में छोटे-छोटे कण और वेक्स हमारे कान के अंदर जमा हो जाती है। जो कान में बैक्टीरियल इन्फेक्शन का कारण बन सकते हैं। इसके अतिरिक्त सर्दी और बरसात के दिनों में कान संबंधी रोग आम सुनने को मिलते हैं। सर्दी, कर्कश ध्वनि,चोट, कान में कीट के घुसने या संक्रमण, अधिक मैल जम जाने या नहाते समय कान में पानी आदि चला जाने से भी कान में इन्फेक्शन हो जाती है। यह पीड़ा असहनीय होती हैं की बर्दाश्त से बाहर हो जाती हैं।कई बार तो कान की वजह से चक्कर, भारी सिरदर्द और बुखार की परेशानी भी हो जाती है।

कानों से मैल साफ करने का एक सबसे अच्छा् तरीका है कि नहाने के बाद कान साफ़ करें क्योंकि नहाने के बाद वैक्स नर्म हो जाता है। आप घर में ऐसी कई नैचुरल चीजें तैयार कर सकते हैं जो वैक्स को नर्म बनाता है।ग्लिसरीन और मिनरल आयल एक एक चम्मच लें और घोल तैयार करें। अब दो-तीन बूंद कान में डाल कर रात भर छोड़ दें। सुबह इयर बड से कान को अच्छे से साफ कर लें।हाइड्रोजन पैराऑक्साइड और पानी की बराबर मात्रा लेकर घोल बनाएं। अब इसकी कुछ बूंद कानों में डालें और कान में अच्छी तरह से चली जाने दें। उसके बाद कान को पलटें और बाकी का बचा घोल बाहर निकाल दें।

कुछ लहसुन की कलियों को लेकर पीस लें या फिर कुचल लें। अब इस मिश्रण को एक कपड़े में लपेटकर कान पर रखें। लगभग आधा घंटा इस कपड़े को कान पर रखे रहने दें, फिर हटा लें। कुछ समय बाद आप महसूस करेंगे की आपके कान का दर्द गायब हो चुका है।

सरसों के तेल में लहसुन की कुछ कलियां डालकर गर्म करें। जब यह तेल गुनगुना रह जाए तो इसकी एक या दो बूंद कान में डालें और रुई लगा लें। ध्यान रहे कि यह तेल गरम न हो, वरना यह आपके कान के परदे को नुकसान पहुंचा सकता है।अगर आपको कान दर्द है और सहन कर पाना मुश्क‍िल है तो ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल आपको तुरंत राहत देगा. ऑलिव आयल को हल्का गर्म कर लें. इसकी दो से तीन बूंद कान में डालें या फिर कॉटन बड की मदद से तेल को कान में लगा लें.

प्याज एक ऐसी चीज है जो लगभग सभी घरों में आसानी से मिल जाती है. इसका एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण कान दर्द में आराम देता है. प्याज के रस को हल्का गर्म कर लीजिए. इस रस के इस्तेमाल से राहत मिलेगी.इन दोनों में ही एंटी-बैक्टीरियल गुण पाया जाता है. कान दर्द होने पर इन दोनों पत्त‍ियों का इस्तेमाल बहुत कारगर होता है. इन दोनों को ही इस्तेमाल करने का तरीका एक ही है. कुछ पत्त‍ियों को हाथ से मलकर उनका रस निकाल लें. इसकी एक या दो बूंद कान में डालने से फायदा होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *