चन्दन के फायदें और उसके उपयोग | Chandan ke fayde aur uske upyog

चन्दन का उपयोग त्वचा को निखारने के लिए किया जाता है व साथ ही यह दवाई के रूप में भी इसका उपयोग किया जाता है चन्दन का उपयोग भगवान पूजा सामग्री में भी किया जाता है चन्दन की लकड़ी अधिकतर अगरबत्ती, आफ़्टरशेव, परफ्यूम और कास्मेटिक बनाने के लिए प्रयोग होती है| चन्दन की लकड़ी भारी, पीले रंग की और महीन दानेदार होती है जो सदियों से अपनी खुशबू के लिए जानी जाती है| धीरे धीरे बढ़ने वाले ये पेड़ मूल्यवान होते हैं और दुनिया में कीमत के मामले में यह दूसरे नंबर की महंगी लकड़ी है|

चन्दन की लकड़ी का प्रभाव शांत और आरामदायी होता है| इसके शांत प्रभाव की वजह से ही प्रार्थना, ध्यान या फिर अन्य आध्यात्मिक गतिविधियों के दौरान इसका उपयोग होता है|जब इसको त्वचा पर लगाया जाता है या सूंघा जाता है तो यह शांति और सद्भाव की भावना पैदा करता है|

जहां चंदन रूखी स्किन को नरिश करती है, वहीं यह ऑयली स्किन के अतिरिक्त तेल को भी कंटोल करने का काम करती है। इसके लिए आप एक टेबलस्पून चंदन पाउडर लेकर इसमें एक टेबलस्पून मुल्तानी मिट्टी व गुलाब जल मिलाकर पेस्ट तैयार करें। अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर सूखने दें। बाद में पानी से चेहरा वॉश करें। आप इस पैक को सप्ताह में तीन दिन इस्तेमाल करें। फिर आपको चेहरे पर ऑयल आने की परेशानी का सामना नहीं करना पडे़गा।

हम अक्सर अपने ब्यूटी संबंधित आर्टिकल्स में आपसे कहते हैं कि चेहरे का मुख्य आकर्षण आंखें होती हैं और दूसरा नंबर मुस्कान का आता है। अगर आंखें थकी हुई और बोझिल दिखेंगी तो चेहरे का पूरा आकर्षण खराब हो जाएगा। इसलिए आंखों के आस-पास की त्वचा को सुंदर बनाने के लिए आप चंदन पाउडर को शहद में मिलाकर लेप बनाएं और लगा लें।

यह मूत्र प्रणाली में सूजन को आराम देता है, पेशाब के रास्ते को साफ़ करके विषैले पदार्थों को शरीर से बाहर निकाल देता है| यह पेट से गैस को निकलने में मदद करके पेट की मांसपेशियों को आराम दिलाता है| इसकी शांत करने वाली प्रकृति एंठन और संकुचन से आराम दिलाती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *