काजू कतली कैसे बनाये (How to make Kaju Katli)

ये बात तो आप सभी जानते है की जल्दी ही दिवाली का त्योहार आने वाला है और काजू की बर्फी या फिर कहे काजू कतली बहुत प्रसिद्ध है|

यह महंगे मिष्ठानो में जानी जाती है क्यूंकि इसके दाम भी ज्यादा होते है| यह काजू से बनी बर्फी होती है इसलिए यह आपको थोड़ी मात्रा में लेने में भी महंगी पढ़ती है फिर भी लोग इसका सेवन हर त्योहार पर करते है।

अगर आप यह रेसिपी घर में बनायेंगे तो मै आपको ज़रूर कह सकता हूँ। की आपके पैसे तो उतने ही खर्च होंगे परन्तु काजू की बर्फी की मात्रा निश्चित ही ज्यादा होगी|

काजू को सूखे हुए ब्लेंडर जार में डाले| और इसमें पानी की बूँद भी नहीं होनी चाहिए| और इस बात का भी ध्यान रखिये की जार में पहले से कोई महक न हो और जार के कोनो में कुछ लगा न हो|

जैसा की आप जानते ही होंगे की कई बार जार के कोनो में चीज़े लगी रह जाती है क्यूंकि साफ़ करते वक़्त वहा तक हमारा हाथ नहीं पहुच पाता| और अगर ऐसा कुछ जार में पहले से लगा हुआ है तो उसे पहले साफ़ कीजिये जिससे की काजू की बर्फी में सिर्फ काजू की ही खुशबू आये और किसी चीज़ की नहीं|

आप काजू का पाउडर बनाने के लिए इसे अच्छी तरह पीसे| अब इसे बाद में इस्तेमाल में लाने के लिए एक तरफ रख दे|

अब एक पैन में चीनी, पानी और इलाइची का पाउडर डालिए| पैन इतना बड़ा होना चाहिए जिसमे की यह सब सामग्री आराम से आ जाए और बिना किसी परेशानी के उबाल भी लग जाए|

उसके बाद चुल्हे की आंच को तेज़ कर दे और पहला उबाल आने का इंतज़ार करे| इसमें 2-3 मिनट लग सकते है|

पहला उबाल आने पर, चुल्हे की आंच को मध्यम कर दे| अब इसे 2 मिनट तक पकने दे और लगातार हिलाते रहे| और अब 2 मिनट बाद इसमें काजू का पाउडर डाले और अच्छी तरह मिलाये|

इसमें से साड़ी गांठे निकाल दे| अब इसे मध्यम आंच पर और 5 मिनट तक पकाए| लगातार हिलाते रहे|. अब 5 मिनट बाद, चुल्हे की आंच को बंद कर दे| और काजू की बर्फी का पेस्ट अब तैयार है।

आपको यह प्रक्रिया करने के लिए बटर पेपर की ज़रुरत पड़ेगी| यह हम इसलिए इस्तेमाल में लायेंगे जिससे की पेस्ट बर्तन के साथ चिपक न जाए|

Lemon tea recipe in Hindi (Corona decoction) / नींबू की चाय रेसिपी इन हिंदी (कोरोना का काढ़ा)

जैसा की आप सभी जानते है की आज पूरा देश कोरोना जैसी बीमारी से लड़ रहा है . आज लाखो लोग इस बीमारी की चपेट में आ गए है इस बीमारी में निम्बू एक दवाई के रूप में काम कर रहा है .निम्बू का आप काढ़ा बना कर पिए इससे आप कोरोना जैसी बीमारी से राहत पा सकते है ,क्युकी नीम्बू हमारी इम्युनिटी पावर को बढ़ाने में मदद करता है

नींबू की चाय बनाने के लिए जरुरी चीजे:-

  1. 1 कप पानी
  2. 1/2 नींबू का रस
  3. 1 छोटी चम्मच चाय पत्ती
  4. 1 छोटी चम्मच या स्वादानुसार चीनी 
  5. 3/4 छोटी चम्मच काली मिर्च

(1) सबसे पहले आप एक छोटे बर्तन में पानी गरम करे .

(2) उसके बाद आप उसमें चाय पत्ती डाल कर अच्छे से उबलने दे .

(3) जब चाय पत्ती अच्छे से उबल जाये उसके बाद उसमें काली मिर्च पीस कर डाल दे .

(4) अब उसमे आप चीनी और काला नमक डाल कर अच्छे से उबलने दे .

(5) उसके बाद आप गैस को बंद कर दे और अब उसमे एक निम्बू डाल कर मिक्स कर लेवे

इस प्रकार आपका नीम्बू का काढा तैयार है अब आप इसको गर्म-गर्म पिए .

कोरोना काल में आप इसको सुबह और शाम दोनों समय ले सकते है

कोरोना को लेकर लापरवाही पड़ रही भारी, 55 नए संक्रमित मामले आए सामने | Massive, newly infected cases are coming out due to negligence on corona

यह बात तो आप सभी जानते है की कोरोना की नई लहर ने देश दुनिया में कोहराम मचा रखा है. प्रदेश में बढ़ते संक्रमण के मामलों को लेकर मुख्यमंत्री ने प्रदेश में जन अनुशासन कर्फ्यू लगाया है. बावजूद इसके राजधानी के सांभरलेक उपखंड क्षेत्र में लोगों की लापरवाही देखने को मिल रही है, जिसका नतीजा है कि हाल ही में लिए गए सैंपल में 55 लोग कोरोना पॉजिटिव आने के बाद क्षेत्र में हड़कंप मच गया है. लोग ना तो अपनी जान की परवाह कर रहे हैं ना ही अपनों की फिक्र और खुलेआम प्रशासन को चुनौती देकर बाजारों में सरकार की गाइड लाइन की धज्जियां उड़ाते हुए घूमते हुए दिखाई दे रहे हैं

दरअसल, सांभर उपखंड क्षेत्र में एक बार फिर कोरोना का बड़ा विस्फोट हुआ है और लगातार संक्रमित लोग मिल रहे हैं. पुलिस और प्रशासन के समझाने के बावजूद लोग सावधानी बरतने के लिए तैयार नहीं हैं. लोग बिना चेहरे पर मास्क लगाए खुलेआम घूम रहे हैं और बाजार में कोरोना परोस रहे हैं, जिसका नतीजा है कि क्षेत्र में एक बार फिर कोरोना ने दस्तक देकर लोगों को डरा दिया है.

आज इस कोरोना की लहर के कारण बहुत से लोग अपने घर परिवार वालो से दूर हो गए है साथ ही इससे काम काज पर भी बहुत असर देखने को मिला है . देखा जाये तो आज हॉस्पिटल में ऑक्सीजन की भारी मात्रा में कमी आई है जिसकी पूर्ति मोदी सरकार नहीं कर पा रही | इससे लोगो को काफ़ी बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है .

कृपया मेरे सभी लोगो से यही अनुरोध है की वह अपने घर मे ही रहे और जरुरत पड़ने पर ही घर से बहार निकले .

सर्दी के गोंद के लड्डू कैसे बनाये / How to make cold gum laddus(sardi me gond)

यह बात तो आप सभी जानते है की सर्दी के दिनों में गर्म चीजों का सेवन करना चाहिए आज में आपको सर्दी में बनने वाले लडडू के बारे में बताते है की किस प्रकार सर्दी के लड्डू बनाने के लिए क्या -क्या सामग्री चाहिये होती है।

सामग्री
(i) 1/2 किलोग्राम गेहूं का आटा (अट्टा)
(ii)1/2 किलोग्राम घी
(iii) 50 ग्राम चीनी या बुरा
(iv) 50 ग्राम बादाम (बादाम)
(v) 50 ग्राम काजू
(vi) 25 ग्राम पिस्ते
(vii) 25 ग्राम फूल मखाना
(viii) 50 ग्राम चिरोंजी
(ix) 50 ग्राम खरबूजे की मींगी
(x) 25 ग्राम खाने वाला गौंद

तरीका:-

सबसे पहले कच्चे गौंद को बारीक पीस कर साइड में रख ले।

खरबूजे की मींगी को बिना तेल या घी के कढ़ाई में भुने

पुरे मखाने को बारीक़ बारीक़ तोड़ कर रख ले

अब काजू बादाम पिस्ते को मिक्सी में मोटा पीस ले

एक कढ़ाई में थोड़ा सा घी डाल कर पिस्से हुए गौंद को सुनहरा होने तक फ्राई करें
अब गौंद को कढ़ाई से बहार निकाले और थोड़ा सा और घी डाल कर पुरे मखानो को फ्राई करें

अब पुरे मखाना को कढ़ाई से बहार निकाले और बचा हुआ सारा घी कढ़ाई में डाले और उसी में आटा मिलाए आटे को सुनहरा होने तक सेके जब तक उसकी खुशबू न आये ध्यान रहे

आटे को धीमी आंच पर सेके

आटे को अच्छी तरह से ठंडा होने दे

ठन्डे आटे में सभी मेवा मिला ले

अब इसमें चीनी मिलाए
अपनी मर्ज़ी के आकार के अनुसार इस के लड्डू बना ले

इस प्रकार आप गोंद के लड्डू बना सकते है।

The Best (And Worst) Techniques spielautomaten kostenlos spielen ohne anmeldung To Break up Into The Tunes Business

Some men and women assume that taking part in the gambling house gambling house online terpercaya and video poker machines for their funds would get a excellent origin of leisure. Revolutionary spots can be another difference in video slot activities in online casinos nonetheless. Various of these casino wars happen to be name-brand activities, which is definitely the entire end result of a alliance between Artist and video game writer NetEnt. Continue reading “The Best (And Worst) Techniques spielautomaten kostenlos spielen ohne anmeldung To Break up Into The Tunes Business”

मेथी खाने के फायदे | Benefits of eating fenugreek (Methi khana ke Fayde)

जैसा की हम जानते है की हम कई मसालों व खाद्य पदार्थों को अपनी दिनचर्या में शामिल करते हैं, लेकिन हम कसूरी मेथी के फायदों से अनजान होते हैं हालांकि, कसूरी मेथी स्वाद में थोड़ी कड़वी होती है, लेकिन कसूरी मेथी का उपयोग करने से भोजन का जायका बढ़ जाता है। साथ ही इसके गुणों में भी कोई कमी नहीं होती है। फिर चाहे आपको वजन कम करना है या फिर डायबिटीज से छुटकारा पाना है, हर लिहाज से कसूरी मेथी लाभकारी है।

(i) एनीमिया की बीमारी में लाभदायक :

महिलाओं में खून की कमी यानि एनीमिया की बीमारी को अक्सर ही देखा जाता है. इसी समस्या को घर पर ही सही डाइट की मदद से आसानी से ठीक किया जा सकता है. मेथी को अपने खाने का हिस्सा बनाएं. मेथी का सेवन करने से एनीमिया की बीमारी में लाभ मिलता है.

(ii) वजन कम करने के लिए कसूरी मेथी के फायदे :

अगर आप मोटापे का शिकार हैं और वजन कम करना चाहते हैं तो सुबह खाली पेट भीगी हुई कसूरी मेथी का सेवन आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इसमें मौजूद फाइबर जल्दी नहीं पचता और आपकी भूख को कम करता है। इससे आप कम खाद्य पदार्थों का सेवन करते हैं, जिससे वजन को कम करने में मदद मिल सकती है।

(iii) ब्‍लड शुगर से बचाव :

आपको बता दूँ स्‍वाद में थोड़ी कड़वी मेथी लोगों को डायबिटीज से बचाने के भी काम आती है. एक छोटे चम्मच मेथी दाना को रोज सुबह एक ग्लास पानी के साथ लेने से डायबिटीज में राहत मिलती है. शोधकर्ताओं का मानना है कि कसूरी मेथी टाइप 2 डायबिटीज में ब्लड में शुगर के स्तर को कम करती है।

बनाना चोकलेट आइस क्रीम (Banana Chocolate Ice Cream)

आज हम आपको केले से आइस क्रीम कैसे बनायीं जाती है उसके बारे में बताएंगे और किस प्रकार केले की आइसक्रीम को हम फैंटकर भी बना सकते हैं चीनी मिलाकर भूने हुये केले की आइसक्रीम का स्वाद केले को फैंटकर बनाई हुई आइसक्रीम से अधिक अच्छा होता है

2 पक्के हिये केले ले
100 ग्राम चीनी ले
1/2 नीबू ले
1 कप फुल क्रीम दूध ले
200 ग्राम क्रीम या ताजा मलाई ले
2 टेबल स्पून चॉकलेट

सबसे पहले, छिलका को छीलें और 3 केला का टुकड़ा करें।

जिप लॉक बैग में कटा हुआ केला स्थानांतरित करें।

3 घंटे के लिए या जब तक यह कठोर न हो जाए तब तक फ्रीज करें।

अब जमे हुए केले को मिक्सर या फूड प्रोसेसर में स्थानांतरित करें।

किसी भी पानी या दूध को जोड़ने के बिना एक मोटी पेस्ट में स्पंदन और ब्लेंड करें।

अब इसमें 1 टीस्पून वेनिला अर्क और 3 टेबलस्पून शहद मिलाएं।

फिर से ब्लेंड करें जब तक यह रेशमी चिकनी बनावट न बदल जाए।

मिश्रण को एक एयरटाइट कंटेनर में स्थानांतरित करें और 3 घंटे के लिए फ्रीज करें। आप तुरंत भी परोस सकते हैं, हालांकि, आइसक्रीम नरम होगी।

अंत में, चॉकलेट सॉस और नट्स के साथ गार्निश की गई बनाना आइसक्रीम का आनंद लें।

लहसुन की चटनी कैसे बनाते है | How to make garlic sauce (Lehsun ki chitni kaise banate hai)

आपको बता दूँ की लहसुन की चटनी को सूखी लाल मिर्च से तैयार एक तीखी और मसालेदार स्वादिष्ट चटनी है जो कई भारतीय स्नैक और चाट के स्वाद को बढ़ाने के लिए इस्तेमाल होती है।झटपट और आसान चट्नी यह है की मिर्च लहसुन की चटनी में एक चटपटा स्वाद है।

14-15 सूखी लाल मिर्च लेवें।
10 लहसुन की कालिया लेवें।
1/2 इंच अदरक का टुकड़ा लेवें।
1 कप गर्म पानी मिर्च भिगोने के लिए लेवें।
2-3 बड़े चम्मच पानी चट्नी पीसने के लिए लेवें।
नमक स्वादअनुसार लेवें।
1 छोटा चम्मच नींबू का रस लेवें।

सबसे पहले आप एक कटोरे में गरम पानी ले और इसमे सूखी लाल मिर्च को तोड़कर डाल दे फिर लगभग 20 मिनट के लिए 14 से 15 कश्मीरी लाल मिर्च को गर्म पानी में भीगने दें। पानी की मात्रा इतनी ही होनी चाहिए जिससे की मिर्च उसमे पूरी तरह से भीग जाए और इसे एक तरफ रख दे।

अब आप लाल मिर्च को पानी से अलग करके और उन्हें ग्राइंडर जार या ब्लेंडर में डालें।

फिर उसमें 9 से 10 मध्यम आकार के लहसुन की कालिया, अदरक और स्वादानुसार नमक डालें।

इसके अलावा, 2 से 3 टेबलस्पून पानी और इसे पीस ले।

चटनी की ब्लेंडर में लाल मिर्च और लहसुन दोनों को बारीक पीस लें चटनी न ज़्यादा गाढ़ी न ज़्यादा पतली होनी चाहिए।

एक छोटी कटोरी में लाल चटनी को निकाल ले।

इसमें अब नींबू का रस मिलाएं।

इसका उपयोग स्वादिष्ट व्याजन जैसे भेल पुरी, वड़ा पाव, सेव पुरी या पाव भाजी आदि बनाने के लिए करें और चाट को तीखा और मसालेदार बनाए।

अब साबुत लाल मिर्च की जगह आप लाल मिर्च पाउडर का भी इस्तेमाल भी कर सकते है।

उसमे नींबू का रस डालने से चटनी का तीखापन कम हो जाता है।इस लिए थोड़ा-सा नींबू का रस डाल दें।

अगर आपको मसालेदार चटनी पसंद नहीं है तो मिर्च की मात्रा कम करें।

आप इसे कम से कम एक सप्ताह के लिए फ्रिज में एक एयरटाइट कंटेनर में स्टोर कर सकते हैं।

How to make paak chutney | पालक के चटनी केसे बनते हैं(Palak ki chatni kese banate hai)

भुनी हुई उरद और चने की दाल के साथ पालक के पत्तों की हरी चटनी जितनी खाने में स्वादिष्ट है उतनी ही दिखने में. इसे हम इडली, समोसा, पकोडे़ या फिर चावल पुलाव के साथ परोसिये. और यह सब भी नहीं तो सिर्फ भुने हुए पापड़ के साथ भी इस चटनी को परोस कर देखिये, सभी को बहुत बहुत पसंद आयेगी.

  • पालक – 2 कप (200 ग्राम) मोटा मोटा कटा हुआ
  • टमाटर – 2
  • हरा धनियां – 2 टेबल स्पून मोटा मोटा कटा हुआ
  • तेल – 2 छोटे चम्मच
  • उरद की दाल – 2 छोटी चम्मच
  • चने की दाल – 2 छोटी चम्मच
  • हरी मिर्च – 2
  • लाल मिर्च – 2
  • अदरक – आधा इंच टुकड़ा
  • करी पत्ता – 10 – 12
  • नीबू – 1 मीडियम आकार का
  • राई – 1/4 छोटी चम्मच
  • हींग – 1-2 पिंच
  • काला नमक -आधा छोटी चम्मच
  • सादा नमक = 3/4 छोटी चम्मच (स्वादानुसार)

माटर को मीडियम आकार के टुकड़े में काट लीजिये. पेन गरम कीजिये, पैन में 1 छोटी चम्मच तेल डाल दीजिये, उरद की दाल और चने की दाल डालिये और धीमी आग पर, चलाते हुये, दालों के ब्राउन होने तक भून लीजिये, और अब करी पत्ता, हींग, हरी मिर्च, लाल मिर्च, अदरक के टुकड़े डालकर थोड़ा सा भूनिये, टमाटर डालकर हल्के नरम होने तक पका लीजिये, पालक डालकर 1-2 मिनिट चमचे से चलाते हुये, हल्का सा पका लीजिये ताकि पालक का कच्चापन खतम हो जाय.

मिक्स सारी चीजों को थोड़ा ठंडा कीजिये, मिक्सर में डालिये, हरा धनिया, काला नमक, सादा नमक और 1/4 कप पानी डालिये और चटनी को बारीक पीस लीजिये, चटनी में नीबू का रस निकाल कर, डालकर मिला दीजिये.

चटनी को प्याले में निकालिये और चटनी में तड़का लगा दीजिये. छोटा पैन गरम कीजिये, 1 छोटी चम्मच तेल डालिये, तेल गरम होने पर राई डालिये, राई तड़कने पर तड़के को चटनी में डालकर मिलाइये, पालक की चटनी तैयार है.

गोभी के पराठे कैसे बनाये | How to make cauliflower parathas (gobhi ke paratha kaisers banate hai)

गोभी का परांठा भारत में नाश्ते में काफी प्रसिद्ध है, सर्दियों के मौसम में अगर नाश्ते में गर्मागर्म गोभी का परांठा मिल जाए तो नाश्ते का मजा दोगुना हो जाता है। नाश्ते के अलावा गोभी के परांठे को आप बच्चों के टिफिन में पैक कर सकते हैं।

(i) 350 ग्राम गोभी लें।
(ii) चार छोटी कटोरी गेहूं का आटा लें।
(iii) एक चौथाई छोटी चम्मच जीरा लें।
(iv) एक चाय की चम्मच धनियाँ पाउडर लें।
(v) एक चौथाई छोटी चम्मच मिर्च पाउडर लें।
(vi) एक चौथाई छोटी चम्मच गरम मसाला लें।
(vii) 2 या 3 बारीक कटी हुयी हरी मिर्च लें।
(viii) बारीक कटा हुआ अदरक लें।
(ix) बारीक कटा हुआ हरा धनियाँ लें।
(x) स्वादानुसार नमक लें।
(xi) परांठे सेकने के लिये तेल या घी लें।

1.सबसे पहले आप गेहूं के आटे को पानी में गूंथकर छोटी लोई बना लें।और फिर हल्का बेल लें।

2.उसके बाद किनारों को कप की शेप में हल्का मोड़ लें। बीच में गोभी का मिश्रण रखें।

3.फिर इसे चारों ओर से बंद कर लें। और बेल लें। हल्का सूखा आटा लगाएं,हलके आटे से बनाने पर ये फटता नहीं है ।

4.अब आप तवा को आंच पर गर्म कर लें। जब तवा अच्छी तरह गर्म हो जाए, तो आंच को हल्का कर दें।

5.उसके बाद बेला हुआ परांठा डालें। जब किनारे हल्के फूलने लगें, तो इसके ऊपर घी लगाएं।

6.जब ये एक तरफ से सिक जाए, तो इसे पलट लें।

7.दूसरी तरफ से भी सेकें। आंच से उतारकर चटनी और दही के साथ सर्व करे।