पाव की मोच कैसे ठीक करे | Pair ki moch kaise thik Kare

आपको बता दे की टखना पैर और पंजे को जोड़ने का काम करता है। टखने के भीतरी लिगामेंट्स बहुत मजबूत होते हैं जो कम ही परिस्थितियों में चोटिल होते हैं। बाहरी लिगामेंट्स तीन भाग में बंटे होते हैं। सामने, मध्य और पीछे।आमतौर पर मोच आने पर सामने और बीच वाले लिगामेंट्स ही चोटिल होते हैं। टखने के लिगामेंट्स के घायल होने की घटनाएं तब होती हैं, जब पंजा अंदर की ओर मुड़ जाता है। ऐसा असमान भूमि पर चलने से होता है। या फिर उचाई से गिर जाये और पूरा वजन पाव पर आ जाये।शरीर का पूरा वजन इन लिगामेंट्स पर पड़ने से वे चोटिल हो जाते हैं।सामान्य परिस्थितियों में छह से आठ सप्ताह का समय पूरी तरह मोच ठीक होने मे जाता है।कई लोगों में लंबे समय तक मोच बनी रहती है।

(1) हल्दी का लेप

आपको बता दे तो हल्दी में एंटी सेप्टिक गुण पायें जाते हैं जो की पैर की मोंच में आराम देते हैं | दो चम्‍मच हल्‍दी में थोड़ा सा पानी मिला कर पेस्‍ट बना ले। फिर हल्‍का गरम करें और मोच पर लगाएं। और सुकने दे फिर दो घंटे के बाद पैरों को गरम पानी से धो लें।ऐसा करने से आपको पैर की मोच में आराम मिलेगा |

(2) बर्फ का सेक

यदि आपके पाव में मोच आ गयी है तो मोच लगने के तुरंत बाद ही उस जगह पर बर्फ लगा ले।और उस जगह पर सेकाई की जाए तो उस जगह पर सूजन नहीं आती। दर्द को दूर करने के लिये हर एक-दो घंटे में बीस मिनट की बर्फ से सिकाई करनी चाहिये। बर्फ को हमेशा किसी कपड़े में लपेट कर लगाना चाहिये।इससे आपको तुरन्त आराम मिलेगा।

(3) शहद और चूने का मिश्रण

आपको बता दे की चूने में पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम होता हैं जो की हड्डियों के लिए असर कारक होता हैं इसीलिए सामान्यत दर्द में और चोट लगने पे इस्तेमाल किया जाता हैं।आप मोच वाले स्‍थान पर शहद और चूना मिला कर हल्‍की मालिश करें।इससे आपको आराम मिलेगा।

(4) गर्म पानी का सेक

यदि आपके पाव में मोच लग गयी है और दर्द ज्यादा हो रहा हैं जिसके लिए गर्म पानी की सेंक भी फायदेमंद होती हैं।आप हल्का गुनगुना पानी लीजिए और धीरे धीरे मोच वाली जगह में लगाये जिससे आपको अच्छा भी लगेगा और दर्द में आराम मिलेगा।