लाल मिर्च का फायदा | laal mirch ka fayde

लाल मिर्च लगभग हर घर की रसोई में पाया जाता है और भोजन एवं व्यंजनों में इसका प्रयोग किया जाता है। यह एक तरह से मसाले का कार्य करता है और भोजन के स्वाद को बढ़ा देता है। लाल मिर्च को पोषक तत्वों का पावर हाउस कहा जाता है। यह भोजन के स्वाद को बढ़ाने के साथ ही औषधिक गुणों से भी युक्त होती है। इसमें कई तरह के केमिकल कंपाउंड मौजूद होते हैं जो शरीर के विभिन्न विकारों को दूर करने में सहायक होते हैं। लाल मिर्च कॉपर, मैग्नेशियम, आरयल, मैगनीज और पोटैशियम जैसे खनिजों का अच्छा स्रोत है। साथ ही इसमें विटामिन बी, विटामिन सी, विटामिन ई भी पाए जाते है।

लाल मिर्च का एक बड़ा फायदा यह है कि त्वचा पर कोई चोट, घाव या फिर अन्य कारण से खून का बहना नहीं रुक रहा हो, तो बस एक चुटकी लाल मिर्च लगाने से खून बहना बंद हो जाता है। लाल मिर्च के हीलि‍ंग पावर के कारण ऐसा होता है। हालांकि ऐसा करने पर आपको जलन या तकलीफ हो सकती है, लेकिन बहते खून को रोकने के लिए यह एक अच्छा विकल्प है।

आमतौर पर भोजन के स्वाद को अधिक चटपटा बनाने के लिए लाल मिर्च का प्रयोग किया जाता है। लेकिन यह स्वास्थ्य के लिए भी उतना ही फायदेमंद होता है। शरीर में खून की कमी दूर करने, वजन घटाने सहित विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में लाल मिर्च बहुत फायदेमंद होता है।

शरीर में आयरन की कमी के कारण एनीमिया और थकान की समस्या होती है। लाल मिर्च में कॉपर और आयरन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो नई रक्त कोशिकाएं बनाने में मदद करता है। लाल मिर्च में फॉलिक एसिड भी पाया जाता है जो शरीर में लाल रक्त कणिकाओं का निर्माण करता है और खून की कमी को दूर करता है।

त्‍वचा में किसी भी तरह के चर्म रोग होने पर इसके इस्‍तेमाल से राहत मिलती है। बदन में दाद-खाज या खुजली होने पर सरसों के तेल में लालमिर्च पाउडर गर्म करके और फिर इस तेल को ठंडा करके छान कर पूरे बदन पर या खुजली वाले स्थान पर लगाने से फायदा होता है।

लाल मिर्च ब्‍लड सर्कुलेशन में सुधार करता है जिससे रूखे और बेजान बालों में नई जान आ जाती है साथ ही इसके सेवन से बालों को बढ़ने में भी मदद मिलती है। अगर आप बालों की समस्‍या से परेशान है तो अपने आहार में लालमिर्च को सेवन करना शुरू कर दें।

शरीर के अंदरुनी हिस्से में चोट, आघात या रक्त का बहाव होने पर लाल मिर्च का प्रयोग किया जा सकता है। जरा-सी लाल मिर्च को पानी में घोलकर पीने पर यह काफी फायदेमंद साबित होगा। गर्दन की अकड़न में भी यह फायदेमंद है।मांसपेशि‍यों में सूजन, किसी प्रकार की जलन, कमर या पीठ दर्द या फिर शरीर के किसी भी भाग में होने वाला दर्द लाल मिर्च के प्रयोग से ठीक किया जा सकता है। इसमें मौजूद विटामिन सी, फ्लेवेनॉइड्स, पोटेशि‍यम और मैंगनीज लाभदायक है।

ज्यादा तीखा भोजन हमारी टेस्ट बड को काफी नुकसान पहुंचाता है।मसाले जैसे प्याज, लहसुन, मिर्च आदि अधिक मात्रा में खाने से सांस की बदबू की समस्या हो जाती है। मसाले गर्म होते हैं। ये शरीर का ताप बढ़ा देते हैं जिससे अनिद्रा की समस्या हो जाती है।

अधिक मसालेदार और तीखा खाने से पेट की कईं समस्याएं हो जाती हैं। पेट की अंदरूनी सतह पर सूजन आ जाती है, एसिडिटी और अल्सर की समस्या हो जाती है।

पिसी हुई लाल मिर्च का रक्तवाहियों में रक्त के थक्के बनने से रोकाता है और सेवन हार्ट अटैक की संभावना को कम करता है। इसके अलावा अवांछि‍त तत्वों को बाहर निकालने के साथ ही आंतों की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाता है।