काजू खाने के फायदे | kaajoo khaane ke phaayade

काजू, ड्राई फूट्स में सबसे टेस्टी माना जाता है लेकिन यह सेहत के लिए भी उतना ही फायदेमंद है। प्रोटीन, खनिज, आयरन, फाइबर, फोलेट, मेग्नीशियम, फॉस्फोरस, सेलेनियम, एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल और विटामिन से भरपूर काजू सेहत संबंधी कई तरह की परेशानियां दूर करने में मददगार है काजू भी हमारी कई सारी गंभीर बीमारियों को ठीक करने की ताकत रखता है।

काजू को नट्स की श्रेणी में रखा जाता है और नट्स शरीर को कई रूपों में फायदा पहुंचाने का काम करते हैं। हृदय के स्वास्थ्य को बरकरार रखने के लिए भी नट्स महत्वपूर्ण माने जाते हैं। इनमें बायोएक्टिव मैक्रोन्यूट्रिएंट्स मौजूद होते हैं, जो हृदय को स्वस्थ रखने का काम कर सकते हैं नमकीन या फ्राई काजू खाने की बजाए साधारण काजू का सेवन करें। इससे सूप, सब्जी की ग्रेवी, मेपल सिरप में डालकर खाया जा सकता है। आप कैशयू बटर का इस्तेमाल भी कर सकती हैं जिसे फल, सब्जियों के सलाद के साथ के साथ भी खा सकते हैं।

सभी वसा आपके लिए खराब नहीं हैं, और कुछ प्रकार के वसा वास्तव में आपके दिल के स्वास्थ्य में मदद कर सकते हैं। काजू में दिल के स्वस्थ मोनोअनसैचुरेटेड वसा होते हैं। ये आवश्यक फैटी एसिड हैं जो अस्वास्थ्यकर एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के निम्न स्तर और स्वस्थ एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के उच्च स्तर से जुड़े हैं। परिणामस्वरूप, काजू में मोनोअनसैचुरेटेड वसा का सेवन हृदय रोग के कम जोखिम से जुड़ा हुआ है।

काजू खाने से पाचन-तंत्र मजबूत होता है, क्योंकि इसमें फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है। फाइबर पाचन को ठीक रखकर कब्ज, पेट के कैंसर और अल्सर जैसी कई समस्याओं से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है। इसे खाने से आंत में भरी गैस दूर हो जाती है और भूख लगने लगती है। पाचन क्रिया दुरुसत रखना चाहते हैं तो रोजाना काजू का सेवन करें।

उच्च मात्रा में तांबे के अलावा, काजू जस्ता का एक बड़ा स्रोत हैं। पर्याप्त जस्ता प्राप्त करने में विफल रहने से आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कार्यशील हो जाती है, क्योंकि यह खनिज प्रतिरक्षा प्रणाली की कोशिकाओं के विकास, एंटीऑक्सीडेंट एंजाइमों के उत्पादन और प्रतिरक्षा प्रणाली नियामकों की गतिविधि के लिए महत्वपूर्ण है।काजू में फैट बहुत कम है जो दिल के लिए बहुत अच्छा है। इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की परेशानी नहीं होती है और स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।