आंवला खाने के फायदे | aanvala khaane ke phaayade

विटामिन-सी से भरपूर आंवला, आंखों, बालों और त्वचा के लिए तो फायदेमंद है आयुर्वेद में तो आंवला को अमृत की तरह माना जाता है ठंड में आंवले का सेवन करना काफी गुणकारी है।आंवला शरीर की इम्‍यूनिटी बढ़ाता है और साथ ही साथ आंवला कई बीमारियों को जड़ से भी खत्‍म करता है. आंवला डायबिटीज में फायदेमंद है

एसिडिटी की समस्या होने पर आंवला बेहद फायदेमंद होता है। आंवले का पाउडर, चीनी के साथ मिलाकर खाने या पानी में डालकर पीने से एसिडिटी से राहत मिलती है। इसके अलावा आंवले का जूस पीने से पेट की सारी समस्याओं से निजात मि‍लती है। पथरी की समस्या में भी आंवला कारगर उपाय साबित होता है। पथरी होने पर 40 दिन तक आंवले को सुखाकर उसका पाउडर बना लें, और उस पाउडर को प्रतिदिन मूली के रस में मिलाकर खाएं। इस प्रयोग से कुछ ही दिनों में पथरी गल जाएगी।

दिल की सेहत के ल‍िए अच्छा है आंवला के फायदे यही खत्म नहीं होते. आंवला दि‍ल की सेहत के लि‍ए भी अच्छा है. आंवला में मौजूद क्रोमियम बीटा ब्लॉकर के प्रभाव को कम करता है. इससे आपका दिल मजबूत और हेल्‍दी बनता है. यही नहीं आंवला खराब कॉलेस्ट्रोल को खत्म कर अच्छे कॉलेस्ट्रोल को बनाने में मदद करता है. आंवले का रस आंखों के लिए बहुत लाभकारी है। आंवला आंखों की ज्योति को बढ़ाता है। आंवला शारीरिक क्रियाशीलता को बढ़ाता है। यह भोजन को पचाने में बहुत सहायता करता है। भोजन में प्रतिदिन आंवले की चटनी, मुरब्बा, अचार, रस चूर्ण आदि को शामिल करना चाहिये। इससे कब्ज की शिकायत दूर होती है, पेट हल्का रहता है, रक्त की मात्रा में वृद्धि होती है।

याददाश्त बढ़ाने में आंवला काफी फायदेमंद होता है। इसके लिए सुबह के समय आंवला के मुरब्बा गाय के दूध के साथ लेने से लाभ होता है, इसके अलावा आप प्रतिदिन आंवले के रस का प्रयोग भी कर सकते हैं।चेहरे के दाग-धब्बे हटाकर उसे खूबसूरत बनाने के लिए भी आंवला आपके लिए उपयोगी होता है। इसका पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा साफ, चमकदार होती है और झुर्रियां भी कम हो जाती हैं। बालों को काला, घना और चमकदार बनाने के लिए आंवले का प्रयोग होता है, इसके पाउडर से बाल धोने या फिर इसका सेवन करने से बालों की समस्याओं से निजात मिलती है।

यह संक्रमण से बचाव करता है। शरीर में फंगस आदि बीमारियों से बचाव करता है। आंवला शरीर को पुष्ट करता है।मूत्र विकारों से छुटकारा दिलाता है। मूत्र विकारों में आंवले का चूर्ण फायदा करता है। आंवले का छाल और उसका सेवन करें तो लाभ होता है।आंवले के रस का सेवन करने से वजन कम करने में सहायता मिलती है।अगर किसी को नकसीर की समस्या है तो आंवले का सेवन लाभकारी है।आंवला हमारे हृदय की मांसपेशियों के लिये उत्तम होता है। यह नलिकाओं में होने वाली रूकावट को समाप्त करता है।यह उग्रता व उत्तेजना से शांति दिलाता है। अचानक से पसीना आना, गर्मी लगना, धातु के रोग, प्रमेय, प्रदर आदि चीजों में आराम दिलाता है।आंवले के रस से बवासीर ठीक हो जाता है।कुष्ठ रोग में भी आंवले का रस फायदेमंद होता है।

आंवले में ऐंटीओक्सिडेंट होते हैं जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। ये मौसम के कारण होने वाले वाइरल संक्रमण से भी बचाता है।