आंखों को स्वस्थ रखने के उपाय | aankhon ko svasth rakhane ke upaay

अपनी आँखों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए इनकी उचित देखभाल जरुरी है। मॉइस्चर, पोषण और नियमित व्यायाम आपकी आँखों का स्वास्थ्य और नजर बेहतर रखता है। आंखों के बिना किसी कार्य को करने में हम असमर्थ हैं। मनुष्य के शरीर में आंखें वह अंग हैं जिसका सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। आंखें वह इन्द्रियां होती हैं जिससे हम दुनिया को देख सकते हैं। हमारे शरीर की समस्त ज्ञानेन्द्रियों में आंखें सबसे प्रमुख ज्ञानेन्द्रियां हैं।

पलकें आँख की सुरक्षा का महत्त्वपूर्ण हिस्सा है। पलक झपकने में एक सेकंड का भी दसवाँ हिस्सा लगता है। ये शरीर की सबसे फुर्तीली मांसपेशी है। बरौनियां भी आँख की सुरक्षा से जुड़ी है।दुनिया का कोई भी कैमरा कुदरत के इस शानदार कैमरे का मुकाबला नहीं कर सकता । जो प्रकृति का हर सुन्दर रंग , आकार , बनावट , दूरियां , नजदीकियाँ , गहराइयाँ , भावनाएं आदि हर चीज़ को हर कोण से हमें दिखाने में सक्षम हैं।इस खूबसूरत दुनिया को देखने के अलावा आँखों का हमारे चेहरे की सुंदरता को बढ़ाने में भी बड़ा योगदान होता है। जब प्रकृति ने हमे इतना अनमोल उपहार दिया है तो हमें इसे सहेजना चाहिए और उसका दुरूपयोग नहीं करना चाहिए। थोड़ी सी सावधानी और देखभाल करके हम इसका उम्र भर आनंद उठा सकते है।

एलोवेरा का इस्तेमाल शरीर की बीमारियों को दूर करने के लिए ही नहीं बल्कि त्वचा एंव बालों के लिए भी फायदेमंद है। एलोवेरा कई तरह की बीमारियों में उपचार गुणों के लिए जाना जाता है। यह आंखों पर बेहद आरामदायक प्रभाव डालता है। इसमें एंटीमाइक्रोबायल कंपाउंड और एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं जो आंखों में दर्द के कारणों का इलाज कर सकते हैं। इसके लिए आप एक चम्मच एलोवेरा जेल लीजिए और दो बड़े चम्मच ठंडे पानी में मिला दीजिए। फिर रुई को इसमें भिगोकर 10 मिनट के लिए पलकों पर रखें। आप इसे दिन में दो बार कर सकते हैं। आंखों को अनूठी शीतलता का अहसास होगा।

आँखों के आगे से काले घेरे और आँखों का सूजापन दूर रखने के लिए 8 घंटे की नींद लें। नींद की कमी से ना केवल आँखें लाल होती हैं बल्कि चेहरे का लुक भी बिगड़ जाता है। भरपूर नींद से चेहरा और आँखें दोनों फ्रेश रहते हैं।

सुबह सूर्योदय से पहले नंगे पैर घास पर कुछ देर चलने से आँखों को ताजगी मिलती है। क्योंकि सुबह घास पर रात भर गिरी ओस की नमी होती है जो शरीर की गर्मी शांत करती है और नेत्र ज्योति बढाती है।स्कूटर , बाइक या दूसरे वाहन के उपयोग के समय जिन पर तेज हवा लगती है आँखों के बचाव का विशेष ध्यान रखना चाहिए। तेज हवा आँखों के लिए नुकसान देह होती है

सेब के सिरके में मौजूद कैल्शियम, पोसोडियम, टैशियम, क्लोरीन तथा आयरन आदि तत्व त्वचा के पोषण के लिए अति आवश्यक होते हैं। आंखों की देखभाल एवं घरेलु नुस्खे में सेब का सिरका भी शामिल है। यह उपाय संक्रमण के कारण होने वाली आंखों में दर्द से तत्काल राहत दे सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि एसीवी या सेब का सिरका में मैलिक एसिड होता है, जो आंखों को प्रभावित करने वाले बैक्टीरिया से लड़ने में सहायक होता है। इसके लिए आप दो बड़े चम्मच पानी में एक बड़ा चम्मच सेब का सिरका मिलाएं। फिर इसमें कॉटन बॉल को डुबोएं और 10 से 15 मिनट के लिए इसे अपने पलको पर रखें। इसे दिन में एक या दो बार जरूर करें।

आँखों को स्वस्थ रखने के लिए इन्हे मॉइस्चर प्रदान करना बहुत जरुरी है। यदि आपके पास ककड़ी नहीं है तो मॉइस्चराइजिंग ड्रॉप खरीद लें और इसे रोजाना आँखों में डालें।यदि आँखों में कुछ गिर जाता है तो आँखों में पानी छिड़ककर साफ़ कर लें बजाय कि इन्हें रगड़ने के। रगड़ने से आँखों में कोई भी हानि हो सकती है।